#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

गूगल ने प्ले-स्टोर से हटाए ये 17 लोन एप, लोगों को कर रहे थे ब्लैकमेल, तुरंत करें इन्हें डिलीट

174

एंड्रॉयड फोन हमेशा खतरों से खेलते हैं। हर सप्ताह में एंड्रॉयड एप या फोन में मैलवेयर की रिपोर्ट सामने आती है। अब एक और खबर आई है जिसने एंड्रॉयड यूजर्स को चिंता में डाल दिया है। गूगल प्ले-स्टोर पर 18 ऐसे एप्स की पहचान हुई है जिनमें SpyLoan मैलवेयर है। इस मैलवेयर वाले लोन एप्स को लाखों लोगों ने अपने फोन में इंस्टॉल किया है। ये लोन एप्स को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि ये यूजर्स का डाटा चोरी कर सकें। ये लोन एप्स यूजर्स के फोन से उनकी फोटोज भी अपने सर्वर पर सेव करते हैं और फिर इन्हीं फोटोज और वीडियो के आधार पर बाद में लोगों को ब्लैकमेल किया जाता है। ESET की एक रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि SpyLoan की मदद से ये लोन एप्स कई तरह की परमिशन को बायपास करते हैं। ये गूगल के प्ले-स्टोर की पॉलिसी को भी चकमा दे देते हैं। इन एप्स से लोगों को तुरंत लोन मिलता है जिसके लिए काफी ज्यादा ब्याज भी वसूला जाता है। SpyLoan मैलवेयर वाले इन एप्स से अफ्रीका, लैटिन अमेरिका और दक्षिण पूर्व एशिया के यूजर्स को निशाना बनाया जा रहा है। गूगल प्ले-स्टोर पर किसी भी एप्स को पब्लिश करने से पहले डेवलपर को KYC कराना होता है। ये एप्स उसे भी बायपास कर जाते हैं। इन एप्स के साथ फर्जी वेबसाइट का लिंक और फर्जी डॉक्यूमेंट दिया जाता है जो देखने में असली जैसे ही लगते हैं। जैसे ही कोई यूजर इन एप्स से लोन के लिए अप्लाई करता है तो ये उससे लोन ग्रांट करने के लिए कई तरह की परमिशन मांगते हैं जिनमें कॉन्टेक्ट लिस्ट, कैमरा, मैसेज, वाई-फाई नेटवर्क, कॉल लॉग्स, कैलेंडर जैसे एक्सेस शामिल होते हैं। लोन लेने से पहले उसे रिटर्न करने का समय कुछ और ही दिखाया जाता है लेकिन लोन देने के बाद ये एप्स उसकी अवधि को कम कर देते हैं और फिर यूजर्स को ब्लैकमेल करना शुरू करते है। एक यूजर ने दावा किया गया है कि उसने 2,160 रुपये का लोन लिया था। ब्याज के साथ उसे 60 दिनों में 2,640 रुपये लौटाने थे, लेकिन इनमें से एक लोन एप ने उससे 4,800 रुपये लिए। ESET की रिपोर्ट में कहा गया है कि इन एप्स के बारे में गूगल को जानकारी दी गई है। जानकारी मिलने के बाद गूगल ने 17 एप्स को डिलीट कर दिया है लेकिन एक एप अभी भी प्ले-स्टोर पर मौजूद है। इन एप्स के नाम  4S Cash, AA Kredit, Amor Cash, Cartera grande, Cashwow, CrediBus, EasyCash, EasyCredit, Finupp Lending, FlashLoan, Go Crédito, GuayabaCash, Instantáneo Préstamo, Préstamos De Crédito-YumiCash, PréstamosCrédito, Rápido Crédito, TrueNaira हैं। यदि इनमें से कोई भी एप आपके फोन में है तो उसे तुरंत डिलीट कर दें और कोई आपको ब्लैकमेल कर रहा है तो साइबर पुलिस में इसकी शिकायत करें।