#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

जापान में आए भूकंप पर प्रधानमंत्री मोदी का छलका दर्द, PM किशिदा को लिखा पत्र; कहा- मैं बहुत दुखी हूं

97

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक जनवरी को जापान में आए भूकंप पर दुख जताया है। उन्होंने अपने समकक्ष प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा को पत्र लिखकर जापान और उसके लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त की हैं। पीएम मोदी ने कहा कि जापान में आए बड़े भूकंप से वह बहुत दुखी हैं। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया था कि एक जनवरी को जापान में लगातार एक के बाद एक करके 155 भूकंप आए, जिनमे दो भूकंपों की तीव्रता तो 7.6 और 6 थी। वहीं, 153 झटकों की तीव्रता तीन से अधिक मापी गई थी। जापान में 7.6 और 6 की तीव्रता वाले जोरदार भूकंप के कारण पश्चिमी तट के किनारे पर स्थित इमारतें ढह गई थीं। भूकंप के कारण अब तक 64 लोगों की मौत हो गई है। कई इमारतें, वाहन तथा नौकाएं भी क्षतिग्रस्त हो गई थीं। अधिकारियों ने भूकंप के खतरे को देखते हुए चेतावनी जारी कर कुछ क्षेत्र में लोगों को अपने घरों से दूर रहने को कहा था।

चार-चार फीट ऊंची लहरें उठ रहीं थीं

अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) का कहना है कि होंशू के मुख्य द्वीप इशिकावा प्रान्त में आए भूकंप की तीव्रता 7.5 थी। वहीं, जापानी अधिकारियों का कहना है कि इशिकावा में आए भूकंप की तीव्रता 7.6 थी। जापानी अधिकारियों के मुताबिक, वाजिमा बंदरगाह पर चार-चार फीट ऊंची लहरें उठ रहीं थीं।