#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

… तो विराट कोहली को कारण बताओ नोटिस भेजना चाहते थे BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली: रिपोर्ट्स

733

नई दिल्ली: विराट कोहली और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के हालिया वक्त में रिश्ते बहुत अच्छे नहीं रहे हैं। दोनों के बीच की तल्खियां सामने भी आई हैं। खबर है कि सौरभ गांगुली और विराट कोहली के बीच तल्खियां इस हद तक बढ़ गई थीं कि बीसीसीआई अध्यक्ष तब के टेस्ट कप्तान विराट कोहली को दिसंबर 2021 में साउथ अफ्रीका दौरे से पहले कारण बताओ नोटिस भेजना चाहते थे।इंडिया अहेड न्यूज की खबर के मुताबिक साउथ अफ्रीका दौरे पर रवानगी से पहले कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुद को वनडे कप्तानी से हटाए जाने और टी20 कप्तानी के संदर्भ में दिए गए बयान को लेकर कोहली को नोटिस दिए जाने की बात कही थी।साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में हार के बाद विराट कोहली ने क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया। खबर के मुताबिक कोहली ने कप्तानी छोड़ने से पहले बीसीसीआई सचिव जय शाह को फोन भी किया था लेकिन उन्होंने सौरभ गांगुली को फोन नहीं किया था।वेबसाइट ने सूत्रों के हवाले से बताया है, ‘बोर्ड प्रेजिडेंट विराट कोहली को कारण बताओ नोटिस देना चाहते थे।’ आखिर में हालांकि कोहली को नोटिस नहीं दिया गया लेकिन यह बात तो साफ थी कप्तानी को लेकर इतना खुलकर अपनी बात कहना कोहली के पक्ष में नहीं गया।खबर है कि गांगुली अगर ऐसा कर देते तो यह भारतीय क्रिकेट में एक अनोखा कदम होता। माना जा रहा है कि नोटिस का ड्रॉफ्ट बन चुका था और इसके बाद गांगुली ने बीसीसीआई के सदस्यों के साथ इस पर चर्चा भी की थी। हालांकि बोर्ड का मानना था कि टेस्ट कप्तान को सीरीज की शुरुआत से कुछ समय पहले ऐसा कोई नोटिस भेजना सही नहीं होगा।कोहली ने दिसंबर 2021 में अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि जब उन्होंने टी20 टीम की कप्तानी छोड़ी तो किसी ने भी उन्हें नहीं रोका। इस बात से बोर्ड और गांगुली की छवि खराब हुई। इससे ऐसा मेसेज गया कि टीम से जुड़े सभी फैसले कोहली को विश्वास में लिए बिना किए जा रहे हैं।सूत्रों ने कहा कि बोर्ड प्रेजिडेंट सौरभ गांगुली और सचिव जय शाह ने कोहली से टी20 कप्तानी नहीं छोड़ने को कहा था। कोहली ने हालांकि कोहली ने उनकी सलाह नहीं मानी।कोहली ने इस बयान के बा गांगुली ने कहा था कि बोर्ड इस मामले को देख रहा है और इसे जल्द ही सुलझा लिया जाएगा।वेबसाइट की खबर के मुताबिक कोहली की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद दोनों के रिश्ते और खराब हुए। यह भी माना जा रहा है कि अनिल कुंबले भी कोहली से अपने संबंधों के चलते ही लगभग एक साल तक ही भारतीय टीम के मुख्य कोच रह सके।माना जा रहा है कि अनिल कुंबले प्रकरण के बाद क्रिकेट के कई दिग्गज हैरान और परेशान थे। वेबसाइट ने सूत्र के हवाले से लिखा, ‘शायद अब कोहली का वक्त समाप्त हो गया है और वह इसे नहीं देख पाए लेकिन रवि शास्त्री इसे भांप गए थे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *