#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

पक्ष और पिता चुराने चले हैं ये मर्दानगी नहीं नमक हरामी है!शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की बागियों को चुनौती

229

मुंबई
शिवसेना ने जिन पत्थरों को सिंदूर लगाया, वे ही अब शिवसेना को निगलने चले हैं। ऐसा करने और करानेवाले महाशक्ति अर्थात कठपुतलियों के संचालक हैं, उन्हें शिवसेना को खत्म करना है। तुम्हें पार्टी चुराना है और पिता की भी चोरी करने निकल पड़े हो? यह वैâसी मर्दानगी, वैâसी बगावत? यह बगावत नहीं, बल्कि यह दुष्टता है। हिम्मत है तो मेरे पिता शिवसेनाप्रमुख की तस्वीर मत लगाओ। अपने माता-पिता को लेकर सभा लो और वोट मांगो, ऐसी खुली चुनौती शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल बागियों को दी। कालाचौकी स्थित अभ्युदयनगर में शिवसेना की पुनर्निर्मित शाखा क्रमांक-२०५ का उद्घाटन शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के हाथों हुआ। इस शाखा के भव्य उद्घाटन समारोह के बाद बड़ी संख्या में मौजूद शिवसैनिकों का पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने मार्गदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने बागियों पर जमकर शब्दों का चाबुक चलाया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि आज तक कई संकट आए, जब-जब संकट आए, उन संकटों को दफनाने के बाद शिवसेना और मजबूती के साथ खड़ी हुई है। इससे पहले भी शिवसेना को तोड़ने की कोशिश की गई थी लेकिन आज की जो कोशिश है वह शिवसेना को समाप्त करने की है, यह ध्यान दें। उन्हें मुंबई पर मौजूद भगवा को नीचे उतारना है। हमारी पहचान मिटाकर वे खुद की पहचान बनाना चाहते हैं, ऐसा पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के कहते ही साहेब हम यह नहीं होने देंगे, शिवसैनिकों ने ऐसा वचन दिया।  ठाकरे और शिवसेना के बीच जो रिश्ता है वह एक दृढ़ रिश्ता है, वह दृढ़ ही रहेगा, चाहे तुम्हारी कितनी भी पीढ़ियां आ जाएं, इसे तोड़ नहीं सकते। इसी शिवसेना और ठाकरे के संबंध को उन्हें तोड़ना है, ऐसा उद्धव ठाकरे ने जैसे ही कहा शिवसेना हमारे ठाकरे साहेब की, नहीं किसी के बाप की, ऐसे गगनभेदी नारों से क्षेत्र गूंज उठा। इस रिश्ते को जो तोड़ने चले हैं, वो खुद को मर्द समझते हैं…. बागी… यह बगावत नहीं, बल्कि हरामीपन है, नमकहरामी है। तुममें इतनी मर्दानगी है तो शिवसेनाप्रमुख, मेरे पिता की फोटो को मत लगाओ। सभी को अपने माता-पिता प्यारे होते हैं। उस समय जिनके माता-पिता साथ हैं, मैं उनको सुखी मानता हूं। वे अपने माता-पिता को लेकर राज्य में सभा करें और वोट मांगें, ऐसी चुनौती पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने बागियों को दी। तुम्हें पार्टी भी चुराना है और पिता को भी तुम चुराने निकले हो। ऐसे लोगों के हाथ में महाराष्ट्र, मुंबई और आपका जीवन आप दोगे क्या? ऐसा सवाल शिवसैनिकों से करते ही ‘नहीं… कदापि नहीं’ ऐसी आवाज शिवसैनिकों की गूंजी। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण की शुरुआत में कहा कि आज-कल विधायक और सांसद जो कहते हैं, वह सुनना ही पड़ रहा है, ऐसा तंज कसते ही एकाएक शिवसैनिकों की हंसी निकल गई। उन्होंने आगे कहा कि मेरे दोनों ओर सांसद अरविंद सावंत और विधायक अजय चौधरी के साथ असंख्य शिवसैनिक हैं। मुझे दृढ़ विश्वास है कि कई बादल आएंगे, झकझोरकर आएंगे, कचरा और कीचड़ उड़ेगा लेकिन शिवसेना की जड़ें मजबूत हैं, उसे कोई टस से मस नहीं कर सकता, ऐसा दृढ़ विश्वास शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के व्यक्त करते ही शिवसेना जिंदाबाद के नारों से पूरा परिसर गूंज उठा। अब वे जा चुके हैं उनका वर्णन किन शब्दों में किया जाए, (गद्दार) तो उन्हें पूरी दुनिया कह ही रही है। उन्होंने कल हमें आग्रह किया कि कृपया हमें गद्दार न कहें। हमने नहीं, तुमने खुद के माथे पर गद्दारी का तमगा लगवा लिया है लेकिन अब धीरे-धीरे तस्वीर साफ होने लगी है। जो गए हैं उनके साथ एक भी सच्चा शिवसैनिक नहीं गया है। उन्हें लगा था जहां सत्ता होती है, वहां शिवसैनिक आते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है, जहां शिवसैनिक होता है, वहीं सत्ता आती है, ऐसे शब्दों में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने फटकार लगाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *