#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

‘भाजपा में पीएम मोदी के अलावा कोई नहीं है’, चुनाव नतीजों पर कांग्रेस नेता का चौंकाने वाला बयान

67

हिंदी पट्टी के तीन राज्यों में हार को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद और लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि भाजपा में पीएम मोदी के अलावा कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा ये मानती है कि विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली जीत भाजपा, आरएसएस या विश्व हिंदू परिषद की नहीं बल्कि पीएम मोदी की जीत है।
चुनाव नतीजों पर ये बोले कांग्रेस सांसद
संसद के शीतकालीन सत्र में हिस्सा लेने पहुंचे कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी से पत्रकारों ने विधानसभा चुनाव नतीजों को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि ‘छत्तीसगढ़ में पीएम मोदी बनाम बघेल था, राजस्थान में पीएम मोदी बनाम गहलोत था। हमने देखा कि पीएम मोदी दिल्ली छोड़कर चुनाव जीतने के लिए गांवों में घूम रहे थे। भाजपा में पीएम मोदी के अलावा कोई नहीं है। भाजपा मानती है कि यह पीएम मोदी की जीत है ना कि भाजपा, आरएसएस या विश्व हिंदू परिषद की।’  संसद के शीतकालीन सत्र में टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ कैश फॉर क्वेरी मामले में एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट पेश की जा सकती है। इसे लेकर अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हम किसी भी निष्कासन का विरोध करेंगे, यह नहीं होना चाहिए। हमने एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा है कि संसद के मुद्दे संसद के भीतर निपटाए जाने चाहिए।