#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

मुख्यमंत्री स्टालिन ने PM मोदी पर कसा तंज, कहा- हां, राज्य में परिवार का शासन है, लेकिन…

82

लोकसभा चुनाव को कुछ महीने ही बचे हुए हैं। ऐसे में सभी राजनीतिक दल बढ़-चढ़कर प्रचार प्रसार कर रहे हैं। एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है। एक दिन पहले ही तेलंगाना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परिवारवाद राजनीति को लेकर विपक्ष पर हमला बोला था। वहीं, अब उनके बयान का कटाक्ष कर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ शासन वास्तव में ‘परिवार का शासन है’, लेकिन वह ऐसा शासन है जो हर परिवार के कल्याण के लिए प्रयासरत है। गौरतलब है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर निशाना साध कहा था, ‘तुम्हारा परिवार है तो क्या भ्रष्टाचार करने का लाइसेंस मिल गया है? लूट करने का लाइसेंस मिल गया है? वो (विपक्ष) कहते हैं मोदी का परिवार नहीं है. फैमिली फर्स्ट, जबकि मोदी कहता है नेशन फर्स्ट। ये विचारधारा की लड़ाई है। उनके लिए उनका परिवार पहले है। मेरे लिए देश का हर व्यक्ति पहले है।’ प्रधानमंत्री के उस बयान पर सवाल उठाया, जिसमें उन्होंने कहा था कि राज्य के लोगों तक केंद्र का धन सीधे पहुंच रहा है। स्टालिन ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित लोगों को केंद्र से एक रुपया भी नहीं मिला। मुख्यमंत्री ने आगे कहा, ‘कुछ लोग हमें (डीएमके) परिवार का शासन कहते हैं। हां, यह एक परिवार का शासन है! एक ऐसा परिवार जो तमिलनाडु के हर परिवार की मदद करता है।’ मोदी की इस दलील पर कि केंद्र योजनाओं के लाभार्थियों को सीधे पैसा जमा कर रहा है, स्टालिन ने कहा कि वह जानना चाहते थे कि किसे पैसे मिले हैं।
हमने राज्य के लोगों की मदद की
मुख्यमंत्री ने सवाल करते हुए कहा, ‘चेन्नई और तुतुकुडी सहित आठ जिलों के लोग दो प्राकृतिक आपदाओं (बाढ़) से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। हमने केंद्र से 37,000 करोड़ रुपये की मांग की थी। क्या प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु के लोगों की सहायता के लिए एक रुपया भी आवंटित किया था? हालांकि, हमने (तमिलनाडु सरकार) ने लोगों की मदद के लिए राज्य आपदा राहत कोष और अन्य राज्य निधियों से 3,406 करोड़ रुपये खर्च किए और जनता के कल्याण के लिए अपनी सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई।’ तमिलनाडु सरकार की ‘निंगल नालामा’ (क्या आप अच्छा कर रहे हैं) पहल शुरू करने की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि यह इस बात का सबूत है कि उनके प्रशासन का लोगों के कल्याण के लिए मानवीय, सहानुभूतिपूर्ण दृष्टिकोण है। इसके अलावा सीएम ने एक वेबसाइट भी लॉन्च की, जिसका उद्देश्य सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं के कार्यान्वयन के संबंध में लोग वर्चुअली मुख्यमंत्री के साथ-साथ वरिष्ठ अधिकारियों से बात कर पाएं। लोग वेबसाइट पर अपनी प्रतिक्रिया भी दर्ज करा सकते हैं। पोर्टल के शुभारंभ पर, स्टालिन ने राज्य सरकार की योजनाओं के कुछ लाभार्थियों के साथ बातचीत की।