#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

रेलवे लॉन्च करेगा सुपर एप, एक ही एप से होंगे टिकट बुकिंग से लेकर ट्रेन स्टेटस चेक करने जैसे काम

175

भारतीय रेलवे एक सुपर एप लॉन्च करने की तैयारी में है। रेलवे के इस सुपर एप से कई सारे काम हो सकेंगे। कहा जा रहा है कि रेलवे के सुपर एप से एक ही एप में टिकट बुकिंग से लेकर ट्रेन को रियल टाइम में ट्रैक करने जैसे कई काम होंगे। रिपोर्ट के मुताबिक इस एप पर कुल 90 करोड़ रुपये खर्च होंगे और तीन साल से अधिक का वक्त लगेगा। रेलवे के सुपर एप को CRIS तैयार करेगा जो कि रेलवे के लिए आईटी का काम देखता है। फिलहाल रेल टिकट बुकिंग के लिए IRCTC Rail कनेक्ट का इस्तेमाल होता है। फोन से टिकट बुकिंग के लिए फिलहाल यही एक आधिकारिक एप है। इस एप को 100 मिलियन से अधिक लोग इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके अलावा Rail Madad, UTS, Satark, TMS-Nirikshan, IRCTC Air और PortRead जैसे एप्स भी हैं जो रेल यात्रियों की मदद करते हैं। अब रेलवे इन सभी एप को एक ही एप में शामिल करने की तैयारी में है। बता दें कि इससे पहले हाल ही में एक रिपोर्ट आई थी जिसमें कहा गया था कि भारतीय रेलवे ने कोहरे से बचाने के लिए 20,000 FogPASS डिवाइस तैयार किए हैं जिनकी मदद से ठंड में कोहरे के कारण लेट होने वाली ट्रेनों की संख्या में कमी आएगी। फॉगपास एक पोर्टेबल डिवाइस है जो लोकोपायलट को भयंकर कोहरे की स्थिति में भी ट्रैक को लेकर जानकारी देती है।