#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

रैली में हमास का झंडा फहराने का आरोप, सपा विधायक अबु आजमी ने की केस वापस लेने की मांग

84

महाराष्ट्र में सपा विधायक अबु आजमी ने मांग की है कि जलगांव रैली के दौरान हमास का झंडा फहराने के आरोपियों के खिलाफ दर्ज मामला खारिज करने की मांग की है। विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान अबु आजमी ने आरोपों को खारिज कर दिया और इन्हें गलत बताया। बता दें कि बीती 8 नवंबर को जलगांव में फलस्तीन के समर्थन में रैली आयोजित की गई थी।

भाजपा एमएलसी ने लगाए थे आरोप
भाजपा के एमएलसी प्रसाद लाड ने बीते हफ्ते विधानपरिषद में चर्चा के दौरान दावा किया कि जलगांव की रैली के दौरान हमास के झंडे लहराए गए। साथ ही हमास के समर्थन में नारे भी लगाए गए। भाजपा एमएलसी के दावे पर डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने सुनिश्चित किया कि इस मामले में जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सोमवार को विधानसभा सत्र के दौरान सपा विधायक अबु आजमी ने कहा कि ‘एक एमएलसी ने कहा और उसके तुरंत बाद 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। यह दावा झूठा है और प्रदर्शनकारियों ने फलस्तीन का झंडा लिया हुआ था।’ अबु आजमी ने कहा कि ‘सभी 11 आरोपियों को फंसाया गया है और दर्ज मामले को खारिज करने की मांग की।’  अबु आजमी ने कहा कि धारागांव में फलस्तीन के समर्थन में जो रैली आयोजित की गई थी, उसके लिए इजाजत ली गई थी। एक स्थानीय संगठन ने बाद में एक काउंटर रैली आयोजित की और उसमें भड़काऊ नारे लगाए गए। यह रैली बिना इजाजत के आयोजित की गई थी लेकिन पुलिस ने उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया। सपा विधायक ने कहा कि काउंटर रैली करने वाले प्रदर्शनकारियों ने ही रैली में हमास के झंडे लहराने का आरोप लगाया था।