#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

शरद ऋतु बजट से पहले सुनक का टैक्स में कटौती का वादा, बोले- महंगाई को आधा करने का लक्ष्य हुआ पूरा

79

ब्रिटेन की संसद में इस सप्ताह शरद ऋतु बजट पेश होने जा रहा है। इससे पहले, देश के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने सोमवार को कहा कि वह अब जिम्मेदारी के साथ करों में कटौती करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने दावा किया कि इस साल के अंत तक महंगाई को आधा करने का उनका लक्ष्य पूरा हो गया है। हालांकि, भारतीय मूल के ब्रिटिश नेता ने इस बजट से पहले उम्मीदों को संतुलित करने की कोशिश की और कहा कि सरकार ‘एक बार में ही सबकुछ नहीं’ करेगी। सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी के चुनावी भविष्य को देखते हुए उनके कुछ नेताओं की ओर से सुनक पर करों में कटौती का लगातार दबाव बढ़ रहा है। इस बीच, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कहा कि वह अनुशासित तरीके से कराधान की ओर रुख करके आर्थिक विकास के अगले चरण को लागू करने का इरादा रख रहे हैं। इस तरह की अटकलें हैं कि ब्रिटेन के चांसलर जेरेमी हंट बुधवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में शरद ऋतु बजट पर बयान देते वक्त कुछ उपायों का एलान कर सकते हैं। उत्तरी लंदन में एक कार्यक्रम में सुनक ने कहा, मैं करों में कटौती करना चाहता हूं। मैं करों में कटौती करने में भरोसा रखता हूं। उन्होंने आगे कहा, मेरे शासन के दर्शन की इससे अच्छी क्या अभिव्यक्ति हो सकती है, जिसमें सरकार नहीं बल्कि लोग अपने पैसे को लेकर सबसे अच्छे फैसले लेते हैं।  उन्होंने आगे कहा, हमें ऐसा कुछ भी करने से बचना चाहिए जो महंगाई को नियंत्रित करने की दिशा में हमारी प्रगति को खतरे डालता हो। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि हम क्या चाहते हैं। इतिहास बताता है कि करों में कटौती अपने आप खुद के लिए भुगतान नहीं करती है। सुनक ने यह भी कहा कि कोविड महामारी और रूस-यूक्रेन संघर्ष की वजह से देश पर कर का बहुत बोझ था। उन्होंने कहा, अब महंगाई आधी हो गई है और हमारी वृद्धि दर भी मजबूत है, जिसका मतलब है कि राजस्व ज्यादा है, तो हम अगले चरण की शुरुआत कर सकते हैं और टैक्स में कटौती पर अपना फोकस कर सकते हैं। उन्होंने कहा, हम सबकुछ एक बार में ही नहीं कर सकते। इसमें समय लगेगा। लेकिन हमें प्राथमिकता देने की जरूरत है। हम समय के साथ यह कर सकते हैं और हम करों में कटौती करेंगे।