#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

‘शेयर-ऑनलाइन जुए में लाखों गंवाकर कातिल बना दोस्त’; छात्रा की हत्या और शव जलाने के मामले में पुलिस

40

महाराष्ट्र के पुणे में 22 वर्षीय छात्रा भाग्यश्री सुडे की हत्या मामले में पुलिस ने एक और अपडेट जारी किया है। बुधवार को विभाग ने बताया कि छात्रा की हत्या एक पूर्व नियोजित अपराध था। उसके अपहरणकर्ता हमेशा से उसे मारने की फिराक में थे और शव को ठिकाने लगाने के लिए एक गड्ढा भी खोद दिया था।
कर्ज में डूबे थे आरोपी
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि तीनों आरोपी कर्ज में डूबे हुए थे। उन्हें पैसे की जरूरत थी, और इसलिए उन्होंने सूडे का अपहरण करने और उसके माता-पिता से पैसे वसूलने की योजना बनाई। जांच के अनुसार, जहां मुख्य आरोपी शिवम फुलावले ने शेयर बाजार में पैसा खो दिया था और कर्ज में डूबा हुआ था, वहीं अन्य आरोपी ने ऑनलाइन रमी में काफी पैसा खो दिया था। बता दें कि सुडे का उसके कॉलेज मित्र फुलावले, सुरेश इंदुरे और सागर जाधव ने 30 मार्च को पुणे शहर के विमान नगर इलाके से कथित तौर पर अपहरण कर लिया था। जांच में पाया गया कि अपहरण के कुछ ही घंटों के भीतर उसकी मौत हो गई, क्योंकि आरोपियों ने उसके मुंह और नाक पर टेप लगा दिया था और जब उसने विरोध किया, तो उनमें से एक ने उसका मुंह बंद कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।  इसके बाद उसके शव को अहमदनगर सिटी के बाहरी इलाके में दफना दिया। आरोपियों ने हत्या के बाद पीड़िता के परिजनों से नौ लाख रुपये की फिरौती मांगी। परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने शक के आधार पर तीनों आरोपियों को हिरासत में लिया और जब सख्ती से पूछताछ की तो तीनों ने अपना अपराध कबूल कर लिया। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने छात्रा का शव बरामद कर लिया है। फिलहाल तीनों आरोपी 15 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में हैं।