#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

सरकारी अधिकारी बन महिला को ठगों ने लगाया 80 लाख का चूना, आप ना करें ये गलती

63

कुरियर स्कैम (Courier Scam) के बारे में सरकार लगातार लोगों को आगाह कर रही है लेकिन इसके जाल में फंस ही जा रहे हैं। अब मुंबई की एक महिला इसकी शिकार हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई की 63 साल की महिला से साइबर ठगों ने सरकारी अधिकारी बनकर 80 लाख रुपये लूटे हैं। घटना 29 मार्च की है। ठाणे की रहने वाली एक महिला के पास कॉल आया। कॉल करने वाले खुद को सरकारी अधिकारी और एक बड़ी कुरियर कंपनी का अधिकारी बताया। कॉल पर कहा गया कि उनके नाम पर एक कुरियर आया है जिसमें प्रतिबंधित सामान हैं। कॉल पर एक ठग ने साइबर पुलिस अधिकारी बनकर महिला से बात की। महिला से बताया गया कि उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है और महिला को वीडियो कॉल पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, प्रवर्तन निदेशालय और वित्त मंत्रालय के नाम पर फर्जी पत्र भी दिखाया गया और उसे गिरफ्तारी की धमकी दी गई। इस मामले से महिला से बचाने के लिए प्रोपर्टी वेरिफिकेशन करने के लिए कहा गया और पैसे भी मांगे गए जिसके बाद महिला ने अलग-अलग खातों में 80 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए। महिला की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 (धोखाधड़ी), 465, 468, 471 (जालसाजी), 170 (एक लोक सेवक का रूप धारण करना), 120 बी (आपराधिक साजिश) और के तहत प्राथमिकी दर्ज की। साइबर दोस्त ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा है कि इस तरह के फर्जी अधिकारियों से बचकर रहें। ये स्कैमर्स पुलिस, NCRB एजेंट के तौर पर फर्जी तरीके से कॉल करते हैं और लोगों को उनके फर्जी पार्सल के बारे में फंसाते हैं। इस तरह के स्कैम या कॉल की शिकायत करें। यह एक नए तरह का स्कैम है। इस स्कैम में साइबर ठग लोगों को कस्टम का अधिकारी या कूरियर कंपनी का आधिकारी बनकर बात करते हैं और ड्रग्स या कस्टम के नाम पर डराते हैं। ये लोगों को फोन करके कहते हैं कि उनका एक पार्सल आया है जिसमें अवैध सामान है। उसके बाद ये लोग लोगों को झांसे में लेने के लिए Skype कॉल करते हैं। उसके बाद बैंक अकाउंट की जानकारी लेकर वेरिफिकेशन के नाम पर ठगते हैं। बहुत ही साफ बात यह है कि यदि आपने कोई कूरियर ऑर्डर किया ही नहीं है तो फिर आपके पास कूरियर का कॉल क्यों आ रहा है। इस तरह के कॉल का जवाब ना दें। यदि कोई बार-बार परेशान कर रहा है तो उसे ब्लॉक करें और साइबर थाने में शिकायत करें। यदि कोई भी कस्टम विभाग के नाम से कॉल करता है तो उससे बात न करें। किसी भी कीमत में अपनी निजी जानकारी जैसे बैंक डीटेल शेयर न करें। यदि कोई आपको कोई वेब लिंक भेजता है तो उसपर क्लिक ना करें। इस तरह के स्कैम के बारे में 155260 पर कॉल करके शिकायत करें या फिर cybercrime.gov.in पर जाकर ऑनलाइन शिकायत करें।