#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

सेंसर बोर्ड फिर सवालों के घेरे में, फिल्म ‘मंडली’ के निर्देशक ने लगाया यह गम्भीर आरोप

115
तमिल अभिनेता विशाल के सेंसर बोर्ड पर इसी महीने लगे आरोपों की जांच अभी पूरी भी नहीं हुई है कि सेंसर बोर्ड द्वारा निर्माताओं को परेशान करने का नया मामला सामने आ गया। इस बार मामला फिल्म ‘मंडली’ का है। फिल्म के ट्रेलर को सेंसर बोर्ड द्वारा मंजूरी देने में लापरवाही से मार्केटिंग सहित पूरी टीम फिल्म के प्रमोशन में जुट नहीं पा रही है। रामलीला थीम पर आधारित होने की वजह से निर्माताओं ने फिल्म के प्रचार प्रसार के लिए नवरात्र के समय को ही बेहतर मानते हुए प्रमाणपत्र प्राप्त करने का प्रयास किया था। इस घटना का दुखद पहलू यह है कि फिल्म को प्रमाण पत्र तो मिल गया लेकिन ट्रेलर को सर्टिफिकेट लंबे समय बाद भी नहीं मिल सका है। फिल्म मंडली के निर्देशक राकेश चतुर्वेदी बताते हैं, ‘हमने सेंसर बोर्ड को इसकी निर्धारित रिलीज की तारीख से 15 से 20 दिन पहले ही सभी जरूरी दस्तावेज सौंप दिए थे। काफी प्रयास के बावजूद अभी तक ट्रेलर की मंजूरी के बारे में उनसे कोई जवाब नहीं मिल सका है। उनके कार्यालय जाने पर निराशा ही हाथ लग रही है। जबकि फिल्म रिलीज से कुछ ही दिन दूर है। यह बेहद निराशाजनक है कि फिल्म का प्रचार नहीं हो पा रहा है। प्रोमो के माध्यम से अधिक से अधिक दर्शकों तक पहुंचने की टीम की मंशा को सेंसर बोर्ड बाधित कर रहा है।’
Mandali Censor Board again under question Film director Rakesh Chaturvedi made serious allegations
जानकारी के मुताबिक निर्देशक राकेश चतुर्वेदी ओम सेंसर बोर्ड के कर्मचारियों ने  रिसेप्शन पर घण्टों बिठाए रखा। बताया गया कि एक दो दिन में एक ठोस समाधान मिल जाएगा लेकिन काफी समय बाद भी इसे जारी नहीं किया गया। विडंबना यह है कि फिल्म को पास तो कर दिया गया लेकिन ट्रेलर को अनुमति देने में देरी की वजह से नवरात्र में प्रचार नहीं हो पा रहा है। रजनीश दुग्गल, बृजेंद्र काला, आंचल मुंजाल, अभिषेक दुहान, विनीत कुमार अभिनीत फिल्म मंडली के निर्माता ने भी फिल्म के ट्रेलर को सिनेमाघर और प्रसाद चैनल पर चलने की मंजूरी नहीं देने और लगातार इसमें देरी के लिए सेंसर बोर्ड की कार्रवाई को कठघरे में खड़ा किया है। फिल्म को प्रमाण पत्र भी मिल चुका है मगर मार्केटिंग बाधित होने से फ़िल्म को भारी नुकसान हो रहा है। फिल्म 27 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है और ट्रेलर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म तक ही सीमित है। बताते चलें कि निर्देशक राकेश चतुर्वेदी ओम की फीचर फिल्म मंडली छोटे शहरों में रामलीला मंडलियों द्वारा अश्लील नृत्य को शामिल करके रामलीला नाटक में दर्शकों को बटोरने और कलाकारों के शोषण के इर्द-गिर्द बुनी गई है। फ़िल्म में पारंपरिक मूल्यों के पतन और सामाजिक चेतना संग धर्म की रीति को बचाये रखने का संघर्ष ‘मंडली’ में बखूबी उभारा गया है। अपने अनोखे कथानक की वजह से फ़िल्म चर्चा में तो है लेकिन ट्रेलर पर सेंसर बोर्ड की मनमानी से फ़िल्म के निर्माता अब कानूनी राय मशविरा भी कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *