#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

‘हम एक बड़ी ताकत, मुश्किलों में हमें दूसरों की मदद करनी ही होगी’, विदेश मंत्री का बड़ा बयान

1071

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि भारत एक ताकतवर मुल्क है और इसकी दुनिया में प्रतिष्ठा है। ऐसे में मुश्किल हालात में हमें दूसरों की मदद करनी ही होगी। विदेश मंत्री का बयान ऐसे समय आया है, जब हाल ही में लाल सागर में ईरान के व्यापारिक जहाज को भारतीय नौसेना ने समुद्री लुटेरों से बचाया है। मुंबई में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट में छात्रों से बातचीत के दौरान विदेश मंत्री ने ये बात कही।
जयशंकर बोले- पड़ोस में हो रहीं गलत चीजों से मुंह नहीं फेर सकते
डॉ. एस जयशंकर ने कहा कि ‘भारत की बढ़ती क्षमता, हमारे अपने हित और हमारी प्रतिष्ठा की वजह से हमें मुश्किल परिस्थितियों में दूसरों की मदद करनी ही होगी।’ विदेश मंत्री ने कहा कि ‘अगर हमारे पड़ोस में बुरी चीजें हो रही हैं और हम कहें कि हम इसमें कुछ नहीं कर सकते, तो ऐसे में हमें जिम्मेदार देश नहीं समझा जाएगा।’ हाल के समय में भारतीय नौसेना ने व्यापारिक जहाज का अपहरण करने के समुद्री लुटेरों के प्रयासों को कई बार नाकाम किया है। हाल ही में ईरान का झंडा लगे एक जहाज को भी भारतीय नौसेना ने सोमालिया के तट पर समुद्री लुटेरों से बचाया है। इस जहाज के क्रू सदस्यों में 19 पाकिस्तानी शामिल थे। अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट पर इस्राइल हमास युद्ध के बाद से हमले बढ़े हैं। यही वजह है कि नौसेना ने लाल सागर और अरब सागर के इलाके में अपने 10 युद्धक जहाज तैनात कर रखे हैं। बीते दिनों ब्रिटेन का झंडा लगे एक व्यापारिक जहाज की भी नौसेना ने मदद की थी, जब जहाज पर हूती विद्रोहियों ने मिसाइल से हमला किया था।