#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

26/11 आतंकी हमले के मास्‍टरमाइंड पर अमेरिका ने रखा 50 लाख डॉलर का इनाम

616

2008 में हुए मुंबई आतंकी हमले (26/11) के 12 साल बाद अमेरिका ने मास्‍टर माइंड साजिद मीर पर 50 लाख डॉलर (करीब 37 करोड़ रुपए) का ईनाम घोषित किया है। साजिद मीर हाफिज सईद के आतंकी संगठन लश्‍कर ए तैयाबा का कमांडर है। ‘यूएस रिवॉर्ड्स फॉर जस्टिस प्रोग्राम’ की तरफ से इस बारे में बयान जारी किया गया है। इसमें कहा गया- साजिद मीर पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी है और 26/11 हमले में उसका हाथ था। उसकी गिरफ्तारी पर 50 लाख डॉलर का ईनाम घोषित किया जाता है।

जस्टिस प्रोग्राम की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि साजिद मीर हमले का ऑपरेशन मैनेजर था। उसने ही हमलों की प्‍लानिंग, तैयारी और इन्‍हें अंजाम दिया था। 21 अप्रैल 2011 को शिकागो की एक अदालत ने साजिद मीर को आरोपी घोषित किया था। उस पर विदेशी सरकारों के खिलाफ साजिश रचने, उन्हें नुकसान पहुंचाने, आतंकियों की मदद करने और अमेरिकी नागरिकों की हत्या के आरोप हैं। 2011 में ही उसके खिलाफ अरेस्‍ट वारंट जारी किया गया। तबसे वो फरार था। उसके बाद साल 2019 में FBI की मोस्ट वॉन्टेड टेरेरिस्ट लिस्ट में शामिल कर दिया गया।

उल्‍लेखनीय है कि 26 नवंबर, 2008 को पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन लश्कर के ट्रेंड 10 आतंकवादियों ने मुंबई में ताजमहल होटल, ओबेरॉय होटल, लियोपोल्ड कैफे, नरीमन हाउस और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस पर हमले किए थे। इसमें 166 लोगों की जान चली गई थी। मरने वालों में कुछ अमेरिकी नागरिक भी थे। इस हमले में पुलिस कार्रवाई में 9 आतंकी मारे गए थे जबकि कसाब को जिंदा पकड़ा गया था। बाद में कसाब को 11 नवंबर 2012 को पुणे की सेंट्रल जेल में फांसी दी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *