#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

NCP पर चुनाव आयोग के फैसले से सियासी माहौल गर्म, कोई सहमत तो किसी ने शरद पवार को दी नसीहत

82

चुनाव आयोग द्वारा अजित पवार वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को ही असली एनसीपी करार देने पर सियासी बवाल मचा हुआ है। एनसीपी का नाम और चुनाव चिह्न ‘घड़ी’ अजित पवार को मिलने के फैसले को कोई सही तो कोई गलत बता रहा है। किसी ने शरद पवार को हाईकोर्ट जाने की नसीहत दी है तो किसी ने उनके डटकर लड़ने की बात कही है। एनसीपी विवाद पर अजित पवार के गुट के पक्ष में फैसला सुनाए जाने पर महाराष्ट्र भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी ने कहा, ‘अगर किसी को चुनाव आयोग फैसला गलत लगता है तो वो हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट जा सकता है। अगर शरद पवार को गलत लग रहा है तो वह अदालत जा सकते हैं।’ भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री डॉ. भागवत किशनराव कराड ने चुनाव आयोग के फैसले को सही बताया। उन्होंने कहा, ‘मैं इस फैसले का स्वागत करता हूं। अगर उन्हें (शरद पवार) लगता है कि अन्याय हुआ है, तो वे अदालत जा सकते हैं।’
पैसा फेंक तमाशा देख का माहौल
शिवसेना (यूबीटी) की सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, ‘देश में ऐसा माहौल बनाया हुआ है, पैसा फेंक तमाशा देख। जो आम लोगों के पैसों की बर्बादी हो रही है। जो विधायक व सांसद बनकर आ रहे हैं, उनकी खरीद फरोख्त हो रही है। यह पूरा केंद्र की सहमति से हो रहा है। देश के सामने यह सब स्पष्ट होता जा रहा है। यह लड़ाई लंबी है। यह लड़ाई संविधान की है। शिवसेना संवैधानिक तौर पर लड़ रही है। मुझे यकीन है कि शरद पवार साहब, जो एक अनुभवी नेता हैं, डटकर लड़ेंगे।’

गौरतलब है, छह महीने से अधिक समय तक चली 10 से ज्यादा सुनवाई के बाद चुनाव आयोग ने एनसीपी में विवाद का निपटारा किया और अजित पवार के नेतृत्व वाले गुट के पक्ष में फैसला सुनाया। अब एनसीपी का नाम और चुनाव चिह्न ‘घड़ी’ अजित पवार के पास रहेगा। महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने मंगलवार को कहा था कि मेरे नेतृत्व वाली एनसीपी को राज्य के अधिकांश विधायकों के साथ-साथ जिला अध्यक्षों का भी समर्थन प्राप्त है।