#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

आज महाराष्ट्र दौरे पर प्रधानमंत्री: संत तुकाराम शिला मंदिर का करेंगे लोकार्पण, लंबे समय बाद एक मंच पर होंगे पीएम मोदी और सीएम ठाकरे

305

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को एक दिवसीय दौरे पर महाराष्ट्र में होंगे। पीएम मोदी पहले पुणे के नजदीक 17वीं सदी के कवि-संत तुकाराम महाराज की जन्मस्थली देहू में उनके शिला मंदिर का लोकर्पण करेंगे। इसके बाद वे मुंबई स्थित राजभवन में क्रांतिकारी गैलरी का उद्घाटन करेंगे। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी मौजूद रहेंगे। सोमवार को जारी एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री 14 जून को मुंबई समाचार के द्विशताब्दी समारोह में शामिल होंगे। मुंबई समाचार पिछले 200 वर्षों से निरंतर छप रहा है। पुणे के देहू में प्रधानमंत्री मोदी दोपहर करीब 1.45 बजे जगतगुरु श्रीसंत तुकाराम महाराज मंदिर का उद्घाटन करेंगे। इस दौरान पीएम वारकरियों से भी संवाद करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री राजभवन में जल भूषण भवन और क्रांतिकारी गैलरी का शुभारंभ करेंगे। बता दें कि महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल सी विद्यासागर राव के कार्यकाल में राजभवन में एक भूमिगत तहखाना मिला था। इस तहखाने में क्रांतिकारी गैलरी स्थापित की गई है। इस गैलरी में चापेकर बंधुओं सहित सावरकर के चित्र प्रदर्शित किए गए हैं।

एक मंच पर नजर आएंगे पीएम मोदी और सीएम ठाकरे

केंद्र और राज्य सरकार में जारी तनाव के बीच लंबे समय बाद किसी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री एक साथ नजर आएंगे। अप्रैल माह में लता मंगेशकर फाउंडेशन के पुरस्कार कार्यक्रम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुंबई आए थे। उस दौरान कार्यक्रम की आमंत्रण पत्रिका में उद्धव ठाकरे का नाम नहीं होने की वजह से मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में शरीक नहीं हुए थे। इससे पहले स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन के बाद हुए अंतिम क्रिया में दोनो की सार्वजनिक मुलाकात हुई थी। इसके पहले उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री से नई दिल्ली में मुलाकात की थी। प्रधानमंत्री कार्यालय में उद्धव ठाकरे के नेतृत्वाले शिष्टमंडल से 40 मिनट की मुलाकात के बाद दोनों नेताओं की अलग से मुलाकात हुई थी। हालांकि वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कई बैठकों में पीएम मोदी और मुख्यमंत्री का आमना-सामना हो चुका है।

प्रधानमंत्री ने भूमिगत गैलरी का किया उद्घाटन

मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां राजभवन में स्वाधीनता संग्राम के क्रांतिकारियों को समर्पित संग्रहालय की एक भूमिगत गैलरी का उद्घाटन किया। यह गैलरी ब्रिटिश काल प्रथम विश्व युद्ध के 13 बंकरों के भूमिगत नेटवर्क में बनाई गई है जिसे अगस्त 2016 में तत्कालीन राज्यपाल सी. विद्यासागर राव के कार्यकाल के दौरान राजभवन परिसर में खोजा गया था।

गैलरी में स्वाधीनता आंदोलन के नायकों, आंदोलन में उनकी भूमिका, मूर्तियां, दुर्लभ तस्वीरें, भित्ति चित्र और स्कूली बच्चों द्वारा तैयार किए गए आदिवासी क्रांतिकारियों पर विवरण शामिल हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने मुंबई के राजभवन में जल भूषण भवन का भी उद्घाटन किया। इस मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी भी मौजूद थे।

राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने लगाया आरोप

राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री को पुणे के देहू में एक मंदिर उद्घाटन समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में बोलने की अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने इसे राज्य का अपमान करार दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने कार्यक्रम में बात की, लेकिन अजीत पवार को बोलने की अनुमति नहीं थी। उन्होंने अमरावती में संवाददाताओं से कहा, ”अजित पवार के कार्यालय ने (पीएमओ से) अनुरोध किया था कि उन्हें कार्यक्रम में बोलने की अनुमति दी जाए क्योंकि वह उप-मुख्यमंत्री हैं और जिले के संरक्षक मंत्री भी हैं। पीएमओ ने मंजूरी नहीं दी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *