#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

आरोपी जावेद की गिरफ्तारी का इनाम लेने एसएसपी दफ्तर पहुंचे तीन युवक, फंस गए मुश्किल में

215

बदायूं कांड के आरोपी जावेद के सरेंडर करने के बाद तीन युवक उस पर घोषित 25 हजार रुपये का इनाम मांगने बरेली के एसएसपी कार्यालय पहुंचे। उन्होंने एसएसपी बरेली सुशील घुले को बताया कि जावेद को उन्होंने ही पकड़ा है। वह सेटेलाइट बस अड्डे पर खड़ा था। संदेह होने पर उसे पास बुलाया तो वह भागने लगा था। उन्होंने पुलिस की मदद की है। लिहाजा इनाम की धनराशि उन्हें दी जाए। इनमें ऑटो चालक अभिषेक भी शामिल था। दूसरे ने अपना नाम घोलू बताया था। एक और युवक इन दोनों के साथ था। एसएसपी के कहने पर पर तीनों एसपी क्राइम बरेली के सामने पेश हुए। इधर, यह भी बताया जा रहा है कि ये तीनों युवक जावेद के मददगार थे। उन्होंने ही जावेद का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया था और उसे बचाने के लिए यह सारी प्लानिंग की थी। बताया जा रहा है कि पुलिस ने तीनों युवकों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

जावेद को पकड़ने वाले युवक संदेह के घेरे में

जावेद ने जिस अंदाज में खुद को पुलिस के हवाले किया वह काफी शातिराना है। उसे पकड़कर पुलिस को सौंपने वाले स्थानीय युवक इनाम के लालच में बदायूं भी गए। चर्चा है कि वहां पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। पूरी योजना मुठभेड़ में खुद के मारे जाने से बचने की थी। बृहस्पतिवार तड़के साढ़े तीन बजे करीब बने वीडियो में ऑटो में बैठे तीन-चार लोग जावेद का आधार कार्ड देखकर उसके नाम पते की पुष्टि करते दिख रहे हैं। ये लोग बार-बार पूछ रहे हैं कि वह ही बदायूं कांड से जुड़ा जावेद है। वीडियो में लोगों के सवाल, गालियां आदि सबकुछ सुनाई आ रहा है, लेकिन चेहरा केवल जावेद का ही दिख रहा है।  इससे लग रहा है कि शातिर शख्स ने वीडियो बनाया है जिससे किसी भी स्थिति में वह न फंसें। यह लोग पुलिस जैसे अंदाज में जावेद से बात कर रहे हैं, जावेद इनसे कह रहा है कि वह चाहें तो उसे मार दें पर वह बेगुनाह है और आत्मसमर्पण करने ही आया है। तब इन लोगों ने उसे सेटेलाइट चौकी पुलिस को सौंप दिया।