#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

त्योहारों में समझदारी से करें क्रेडिट कार्ड का उपयोग, बिल भुगतान में चूक पड़ सकता है भारी

108

क्रेडिट कार्ड मूल्यवान वित्तीय साधन है। इससे बड़े खर्च के प्रबंधन में मदद मिलती है। त्योहारी सीजन में दुकानदार से लेकर क्रेडिट कार्ड कंपनियां ग्राहकों के लिए खास ऑफर्स लाती हैं। वित्तीय बोझ से बचते हुए इन ऑफर्स का लाभ उठाने के लिए क्रेडिट कार्ड के उपयोग के तरीके बताती कालीचरण की रिपोर्ट- त्योहारी सीजन में क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करने से पहले अपना रियल टाइम बजट तय करें। खर्च का बजट ऐसा होना चाहिए, जिससे आप पर वित्तीय बोझ न बढ़े। इस बजट में आपकी मासिक आमदनी, मौजूदा कर्ज और अन्य वित्तीय जिम्मेदारियों का भी ध्यान रखें। साथ ही, उन उत्पादों की भी सूची बनाएं, जिन्हें खरीदना चाहते हैं। ऐसा कर आप बिना किसी डिफॉल्ट के समय पर क्रेडिट कार्ड बिल चुका पाएंगे। बिल भुगतान में चूक पर कार्ड कंपनियां भारी ब्याज वसूलती हैं। वैसे क्रेडिट कार्ड का चुनाव करें, जिन पर रिवॉर्ड, कैशबैक या छूट मिलती है। कुछ क्रेडिट कार्ड खास तौर पर त्योहारी सीजन के लिए डिजाइन किए जाते हैं। उन पर अधिक कैशबैक या शून्य ब्याज पर ईएमआई जैसे आकर्षक विकल्प मिलते हैं। कुछ कार्ड पर सालाना शुल्क नहीं लगता है या ब्याज दर कम होती है। कार्ड इस्तेमाल करने से पहले तय करें कि आप अपनी क्रेडिट लिमिट को समझते हैं। इससे अधिक खर्च करने पर कंपनियां भारी जुर्माना वसूल सकती हैं। साथ ही, इसका असर आपके सिबिल स्कोर पर भी पड़ता है। ऐसे में आवश्यक है, तो क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली कंपनी से अस्थायी लिमिट बढ़ाने का अनुरोध करें। लेकिन, इस विकल्प का समझदारी से इस्तेमाल करें।

पुनर्भुगतान की योजना अवश्य बनाकर रखें
खरीदारी से पहले पुनर्भुगतान (रिपेमेंट) की योजना बनाएं। आदर्श रूप से ब्याज शुल्क से बचने के लिए आपको क्रेडिट कार्ड बिल को तय तारीख से पहले भुगतान का लक्ष्य रखना चाहिए। अगर तय तारीख से पहले भुगतान कर पाना संभव नहीं है, तो पुनर्भुगतान की रणनीति जरूर तैयार करें। इसमें ब्याज का बोझ कम करने के लिए ड्यू न्यूनतम राशि से अधिक का भुगतान करना शामिल किया जाना चाहिए। आदिल शेट्टी, सीईओ, बैंकबाजार डॉट कॉम का कहना है कि त्योहारों के दौरान खरीदारी में कई लेनदेन किए जाते हैं, जो ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों होते हैं। अपने खर्च पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए क्रेडिट कार्ड लेनदेन पर निगरानी रखें। साथ ही, अपनी बचत बढ़ाने के लिए क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाले ऑफर्स और प्रोमोशन्स का लाभ जरूर उठाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *