#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

नियम तोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई करो, प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को दिया निर्देश

679

मुंबई, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जिला और पुलिस प्रशासन के अफसरों को निर्देश दिया है कि राज्य में लागू प्रतिबंधों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री ने बुधवार रात 8 बजे से लागू होने वाली पाबंदियों से कुछ घंटे पहले राज्य के तमाम संभागीय आयुक्तों, जिला कलेक्टरों और पुलिस प्रशासन के आला अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के मार्फत एक समीक्षा बैठक की और अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि राज्य में लागू प्रतिबंधों को कड़ाई से पालन कराया जाए। जो कोई भी इन प्रतिबंधों का उल्लंघन करता पाया जाए उसे बख्शा न जाए।
मंत्री के साथ समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात, चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख, मुख्य सचिव सीताराम कुंटे, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ प्रदीप व्यास, टास्क फोर्स के सदस्य, मुंबई के पुलिस आयुक्त हेमंत नगराले समेत तमाम विभागों के आला अफसर भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल जिस तरह सब ने मिलकर कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए काम किया था अबकी बार उससे ज्यादा अधिक शक्ति और कड़ाई से हमें यह काम करना होगा, क्योंकि इस बार की चुनौती ज्यादा मुश्किल है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि किसी भी स्थिति में ग़ाफ़िल रहकर काम नहीं चलेगा। कोरोना का संक्रमण इस समय इतना तीव्र है कि अब और ज्यादा फैलाव हुआ तो स्थिति नियंत्रण के बाहर जा सकती है।
‘पारदर्शिता और ईमानदारी जरूरी’
मुख्यमंत्री ने प्रशासन को निर्देश दिया है कि प्रतिबंधक कानूनों का पालन कराते वक्त प्रशासन के लोग मन में किसी प्रकार की दुविधा न रखें। पूरी स्पष्टता, पारदर्शिता और ईमानदारी के साथ कानूनों का पालन कराया जाना बेहद जरूरी है। मुख्यमंत्री ने प्रशासन के अधिकारियों से कहा कि राज्य सरकार ने जिन जरूरतमंद गरीब आम लोगों के लिए जो आर्थिक पैकेज घोषित किया है उसका लाभ ज्यादा से ज्यादा पात्र लोगों तक पहुंचाने के लिए योग्य तरह से नियोजन किया जाए। सरकार को इस संदर्भ में कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए।
आवश्यक वस्तुओं की दुकानों पर भी सख्ती
मुख्यमंत्री ने कहा कि जीवन आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं को प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वहां नियमों का उल्लंघन बर्दाश्त किया जाएगा। जहां भी भीड़ लगी दिखाई दे उन जगहों पर तत्काल स्थानीय प्रशासन उचित फैसला ले और जरूरत पड़ने पर तत्काल ऐसी दुकानों को बंद करा दिया जाए।
प्रशासन को मुख्यमंत्री के निर्देश
– कोरोना के बदलते म्यूटेशन के संदर्भ में टास्क फोर्स के सदस्य लगातार अपडेट देते रहें।
– ऑक्सीजन का जरूरत पड़ने पर सही ढंग से इस्तेमाल किया जाए।
– रेमडीसीविर इंजेक्शन का सावधानीपूर्वक नियोजन करें।
– आगामी मॉनसून को ध्यान में रखते हुए जंबो कोविड अस्पतालों का सुविधा और सेफ्टी ऑडिट कराया जाए।
– सभी अस्पतालों का फायर ऑडिट त्वरित गति से कराया जाए इसमें किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
– माइक्रो और स्मॉल कंटेनमेंट क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *