#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

पीएम मोदी की ‘मन की बात’ से हर तबके तक पहुंचीं सरकार की नीतियां, आईआईएम-एसबीआई की रिपोर्ट

260

सरकार की नीतियां लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ अहम माध्यम बन चुका है। इसने मंगलवार को अपने प्रसारण के 9 साल पूरे किए। आईआईएम बैंगलोर और एसबीआई के आर्थिक विभाग ने इस मौके पर एक विशेष रिपोर्ट जारी कर बताया कि लोगों द्वारा सरकारी योजनाओं व सामाजिक पहल को अपनाने में भी इस कार्यक्रम से मदद मिल रही है। पीएम मोदी ने भी एक्स पर इस रिपोर्ट का उल्लेख कर कहा कि इसमें 9 साल पूरे कर चुके कार्यक्रम की मन की बात से जुड़ी रोचक जानकारियों और सामाजिक प्रभावों को सामने रखा गया है। इस कार्यक्रम में कई सामूहिक प्रयासों और जीवन यात्राओं के उत्सव को असाधारण बताया। रिपोर्ट के अनुसार इस कार्यक्रम में जब पीएम मोदी ने पीएम मुद्रा, सुकन्या समृद्धि, जनधन खातों, डीबीटी, आदि की सफलता के बारे में बात की, गूगल पर इनकी खोज में तेजी आई। लोगों में जागरूकता बढ़ी और उन्होंने इन योजनाओं को ज्यादा संख्या में अपनाया।

उल्लेख के बाद गूगल पर जमकर सर्चिंग
इसी तरह सामाजिक कार्यक्रमों जैसे स्वच्छ भारत, सेल्फी विद डॉटर, न्यू इंडिया, अनसंग हीरोज, वोकल फॉर लोकल, हर घर तिरंगा, योग, खादी आदि को भी उनके द्वारा उल्लेख किए जाने के बाद गूगल पर खूब सर्च किया गया। सांस्कृतिक पहचानों का पीएम द्वारा नाम लेने भर से उनके बारे में जानने वालों की संख्या तेजी से बढ़ी है। रिपोर्ट का दावा है कि पीएम मोदी द्वारा भ्रामक सूचनाओं को रोकने के लिए दिए संबोधनों ने कोविड महामारी के समय लोगों को मानसिकता को मजबूत किया, इससे महामारी से लड़ने में मदद मिली। रिपोर्ट के अनुसार स्वामी विवेकानंद के बारे में मन की बात में बताने के बाद उनसे जुड़ी गूगल सर्च में 25 प्रतिशत इजाफा हुआ। पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री को लेकर भी इसी तरह का इजाफा पिछले दो साल में हुआ है। सर्वपल्ली राधाकृष्णन को लेकर सर्च 64 प्रतिशत बढ़ीं। जलियांवाला बाग को लेकर सर्च भी पिछले 5 साल में 75 प्रतिशत बढ़ी। 4 हजार शब्द के करीब हर एपिसोड 15 से 40 मिनट के बीच होता है। तीन अक्तूबर 2014 को शुरू हुआ रेडियो कार्यक्रम, दूरदर्शन पर भी प्रसारण। हर महीने के आखिरी रविवार को पीएम मोदी इसमें अपने विजन व विचार रखते हैं। 3 अक्तूबर को 105वां एपिसोड प्रसारित हुआ। पीआईबी के अनुसार, 23 करोड़ लोग सीधा प्रसारण सुनते हैं, 41 करोड़ इसे अन्य मौकों पर सुनते या देखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *