#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

बागेश्वर धाम के आचार्य धीरेंद्र शास्त्री बोले, भारत में रामराज्य आया अब तो पाकिस्तान भी घबराया

86

बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि दिल पर भगवा रंग छाया है। देखो दुनिया वालों भारत में रामराज्य आया है। अब तो पाकिस्तान भी घबराया है। भय-भूख से जो मुक्ति दिलाए वही रामराज्य है। बुधवार को बड़हलगंज के सरयू तट पर उमड़े श्रद्धालुओं को श्रीराम कथा सुनाते हुए बागेश्वरधाम के पीठाधीश्वर ने कहा कि भीड़ से ऐसा लगता है कि सरयू तट पर महाकुंभ लगा हो। जो सत्ता का भूखा होता है वह कभी भी राजा नहीं हो सकता। सेवा का भूखा ही राजा हो सकता है। प्रभु श्रीराम सेवा के भूखे थे। जो प्रजा से सेवा कराए, वह राजा नहीं हो सकता है। जो प्रजा की सेवा करे वह राजा है। बागेश्वरधाम के पीठाधीश्वर ने कहा कि जातिवाद से ऊपर उठकर हिंदुओं को एक होना होगा, तभी भारत हिंदू राष्ट्र बनेगा। भगवान राम वनवास से जब लौट कर अयोध्या आए तो हर तरफ हर्षोल्लास से भर गया। उन्होंने कहा कि जहां माता-पिता व साधु-संतों को प्रताड़ित किया जाता है, वहां रावण राज्य होता है। श्रीराम कथा को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने 11000 वर्ष के राम राज्य की सात विशेषताएं बताईं। कहा कि राम राज्य में किसी भी पिता ने पुत्र को मरते नहीं देखा। राम के चरित्र को अपनाएंगे अर्थात भजन-भोजन ठीक रखेंगे तभी आयु लंबी होगी। घर में सभी के बीच प्रेम होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि आज हम प्रकृति का दोहन कर रहे हैं। इसलिए प्राकृतिक आपदाओं से जूझ रहे हैं। राम राज्य में शस्त्र से नहीं शास्त्र से राज किया गया है, जिससे प्रजा प्रसन्न थी। शास्त्र के बल पर राज करने वाला असली महाराजा कहलाता है। उन्होंने कहा कि छल-कपट से कभी भी राम राज्य की स्थापना नहीं हो सकती है। 22 जनवरी को सनातनियों को दिवाली मनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत रघुवर का देश है, भारत की पहचान हमारे रघुवर से होनी चाहिए। पीठाधीश्वर ने कहा कि कथा का मतलब सिर्फ जय श्रीराम का नारा नहीं है, बल्कि दिल को अयोध्या मान लो और मन को तब हर तरफ राम राज्य होगा। कथा शुभारंभ से पहले आयोजक मंडल राहुल तिवारी, संजय सोनी, बल्ला तिवारी, अजय सोनी ने व्यासपीठ की आरती उतारी। कथा स्थल पर मुख्य रूप से सांसद कमलेश पासवान, विधायक राजेश त्रिपाठी, पूर्व विधायक विनय शंकर तिवारी, ब्लॉक प्रमुख राम आशीष राय, चेयरमैन प्रीति उमर, चेयरमैन प्रतिनिधि महेश उमर, भाजपा नेता सृंजय मिश्रा, किन्नर अखाड़ा महामंडलेश्वर कनकेश्वरी नंद गिरी, आलोक निगम, सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। बागेश्वर बाबा अर्थात धीरेंद्र शास्त्री की राम कथा सुनने गोरखपुर सहित संतकबीरनगर, बस्ती, देवरिया, मऊ, आजमगढ़, अयोध्या, बिहार, झारखंड, नेपाल से बड़ी संख्या में श्रद्धालु कथा सुनने पहुंचे। पहले दिन की कथा समाप्त होने के बाद भी श्रद्धालुओं का आना जारी रहा।

कथा स्थल पर उमड़ा जन सैलाब

कथा की शुरुआत करते हुए बागेश्वरधाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा, ऐसा लग रहा है, जैसे महाकुंभ यहीं चल रहा है। साधू जी…सीताराम। अंततोगत्वा हम आ ही गए। भीड़ ज्यादा देखकर बोले सब लोग बैठ जाइए। बैरिकेडिंग टूट जाएगी। ऐसा हुआ तो मीडिया ब्रेकिंग न्यूज बना देगा। इसलिए बैठ जाइए। कथा में उमड़े श्रद्धालुओं को संभालने में पुलिस को एड़ी चोटी एक करनी पड़ी। उपनगर के जाईपार में विश्राम स्थल पर पहुंचे कथा वाचक धीरेंद्र शास्त्री को कथा स्थल तक लाने में पुलिस के पसीने छूट गए। पुलिस प्रशासन को पीएसी तैनात करनी पड़ी।