#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

माता सीता की भूमि सीतामढ़ी से अयोध्या वंदे भारत का ट्रायल कल, श्रीराम जन्मभूमि का दर्शन सुलभ

113

सीतामढ़ी माता जानकी की जन्म स्थली से राम जन्म भूमि अयोध्या के बीच चलने वाली देश की पहली वंदे भारत साधारण को चलाने की तैयारी शुरू हो गई है। स्लीपर कोच के साथ चलनेवाली वंदे भारत साधारण को अगले साल 2024 के 14 जनवरी के बाद नियमित रूप से चलाया जाना है। इसको लेकर उससे पहले ट्रेन का ट्रायल रन किया जाना है, जिसके लिए 24 दिसंबर की तारीख तय की गई है। रविवार को दरभंगा से ट्रायल में यह ट्रेन चलने वाली है। ट्रेन ट्रायल का वक्त शाम के तीन बजे शुरू होगा, जो दरभंगा से कमतौल, जनकपुर रोड, सीतामढ़ी, बैरगनिया, घोड़ासहन, रक्सौल, नरकटियागंज वाया सिकटा होते हुए वाल्मीकिनगर कप्तानगंज के रास्ते अयोध्या तक जाएगी। इस संबंध में सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन अधीक्षक सुरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि ट्रेन ट्रायल से पूर्व की तैयारी के निरीक्षण के लिए आज यानी 23 दिसंबर को हाजीपुर रेल महाप्रबंधक अनिल कुमार खंडेलवाल सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन पहुंच रहे हैं। ट्रायल में चलने वाली इस ट्रेन में वरिष्ठ अधिकारीगण एवं सुरक्षा अधिकारी सवार होंगे। इसके साथ ही ट्रेन के मार्ग की निगरानी तीनों जोन के महाप्रबंधकों, डीआरएम और वरिष्ठ परिचालन प्रबंधकों द्वारा की जाएगी। ट्रायल ट्रेन को लेकर खास तैयारी की गई है। जिस दिन यह ट्रेन नियमित तौर पर चलना शुरू करेगी उस दिन सीतामढ़ी सहित सभी स्टापेज पर केंद्र और राज्य सरकार के मंत्री, सांसद, मेयर, विधायक समेत तमाम गणमान्य मौजूद रहेंगे। इस ट्रेन की तमाम खासियत है। माना जा रहा है कि खरमास यानी 14 जनवरी के बाद से ट्रेन के नियमित परिचालन शुरू होगा।देश में अब तक जितनी वंदे भारत चलाई जा रही है, सभी में एसी कोच है। यह पहली बार होगा जब वंदे भारत स्लीपर कोच के साथ चलेगी। इस ट्रेन की खास बात यह है कि पुश-पुल तकनीक से तैयार की गई है। इसका फायदा यह होगा कि पुश-पुल तकनीक में ट्रेन के आगे और पीछे लोकोमोटिव होते हैं। आगे वाला इंजन ट्रेन को खींचता है और पीछे वाले को धक्का देता है, जिससे ट्रेन की रफ्तार तेजी से बढ़ती है। तकनीकी भाषा में इसे पुश-पुल लोकोमोटिव कहा जाता है। इस ट्रेन की रफ्तार वैसे तो 130 किमी प्रति घंटा है, लेकिन इस रूट पर रेल ट्रैक को भी मजबूत करना होगा मगर वह फिलहाल संभव नहीं है। इसलिए ट्रेन की गति नहीं ट्रैक की क्षमता के अनुसार स्पीड अधिकतम 110 किमी प्रति घंटे ही हो सकेगी।