#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

वरिष्ठ नागरिकों व पत्रकारों को रियायत देने के सवाल पर रेल मंत्री की दो टूक- सभी को दे रहे 55% छूट

79

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने वरिष्ठ नागरिकों और मीडियाकर्मियों को कोविड-19 से पहले मिलने वाली कराये में छूट फिर से बहाल करने की मांग पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि फिलहाल प्रत्येक यात्री को ट्रेन यात्रा पर 55 प्रतिशत की रियायत मिलती है। पुरानी रियायतों की बहाली पर मीडियाकर्मियों के सवालों का कोई सीधा जवाब दिए बिना, वैष्णव ने कहा, “भारतीय रेलवे पहले से ही हर ट्रेन यात्री को ट्रेन किराए में 55 प्रतिशत रियायत की पेशकश कर रहा है।” वैष्णव बुलेट ट्रेन परियोजना की प्रगति की समीक्षा के लिए अहमदाबाद पहुंचे थे। मार्च 2020 में लगाए गए कोविड-19 लॉकडाउन से पहले, रेलवे वरिष्ठ नागरिकों और सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पत्रकारों को ट्रेन किराए में 50 प्रतिशत की छूट देती थी। लॉकडाउन के दौरान रेलवे परिचालन पूरी तरह से बंद कर दिया गया था, लेकिन जब जून 2022 में इसे पूरी तरह से फिर से शुरू किया गया, तो रेल मंत्रालय ने इन रियायतों को बहाल नहीं किया और तब से यह मुद्दा संसद के दोनों सदनों सहित विभिन्न प्लेटफार्मों पर उठाया गया है। वैष्णव ने लोकसभा और राज्यसभा में कई मौकों पर सांसदों की ओर से उठाए गए सवाल पर इसी तरह का रुख बनाए रखा था। गुरुवार को अहमदाबाद में एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान जब मीडियाकर्मियों ने जब ये सवाल उठाया तो वैष्णव ने कहा, “अगर किसी गंतव्य के लिए ट्रेन टिकट की कीमत 100 रुपये है, तो रेलवे केवल 45 रुपये ले रहा है। वह 55 रुपये की रियायत दे रहा है।” इससे पहले, मध्य प्रदेश के चंद्र शेखर गौड़ की ओर से दायर एक आरटीआई आवेदन का जवाब देते हुए, भारतीय रेलवे ने बताया कि उसने वित्तीय वर्ष 2022-23 में लगभग 15 करोड़ वरिष्ठ नागरिकों से लगभग 2,242 करोड़ रुपये की कमाई की।