#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

‘संयुक्त महाराष्ट्र आंदोलन का हिस्सा नहीं था जनसंघ’, उद्धव ठाकरे का दावा

5

शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को दावा किया कि भाजपा के पूर्ववर्ती जनसंघ ने 1950 के दशक में शुरू हुए महाराष्ट्र राज्य के निर्माण के संघर्ष में भाग नहीं लिया था। शिवसेना (यूबीटी), कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरद पवार) की महा विकास अघाड़ी की साझा रैली को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि भाजपा ने कभी कोई आदर्श नहीं बनाए। उन्होंने कहा, वे कभी स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा नहीं थे। यहां तक कि संयुक्त महाराष्ट्र आंदोलन में भी भाजपा की मूल पार्टी जनसंघ ने कभी भाग नहीं लिया। मेरे दादा प्रबोधनकर ठाकरे, मेरे पिता (बाल ठाकरे) और चाचा श्रीकांत ठाकरे उस आंदोलन में सबसे आगे थे। जनसंघ संयुक्त महाराष्ट्र समिति का हिस्सा था। उनका मकसद समिति में शामिल होना,कुछ मांगना और वहां से जाना था। मई दिवस से एक दिन पहले ठाकरे ने आरोप लगाया कि जब चुनाव आए तो जनसंघ ने सीट बंटवारे को लेकर समिति को तोड़ दिया। उन्होने आरोप लगाया कि उनकी महाराष्ट्र के प्रति उनकी दुर्भावना तभी से है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शरद पवार को भटकती आत्मा कहे जाने पर ठाकरे ने पलवार किया और कहा कि एक असंतुष्ट आत्मा भी है जो हर जगह घूम रही है। शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख ने कहा कि उन पर और शरद पवार पर अपने-अपने बेटे और बेटी को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने की कोशिश करने का आरोप है, लेकिन यह असंतुष्ट आत्मा अपने लिए लड़ रही है और सारे काम अपने दोस्तों के लिए कर रही है। उन्होंने कहा, इस असंतुष्ट आत्मा को किसानों की समस्याओं पर ध्यान देने के लिए संवेदनशील होना चाहिए। ठाकरे ने यह भी दावा किया कि शिवसेना और उसके संस्थापक बाल ठाकरे मुश्किल घड़ी में मोदी के साथ खड़े रहे, लेकिन मोदी अब शिवसेना को खत्म करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने जेडीएस नेता प्रज्वल रेवन्ना के लिए प्रचारक करने के लिए भाजपा पर निशाना साथा, जिनका नाम वायरल वीडियो क्लिप मामले में सामने आया है। ठाकरे ने दावा किया भाजपा संविधान को बदलने के लिए भारी बहुमत चाहती है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर उसने कभीऐसा करने की कोशिश की तो पूरा देश फूट पड़ेगा।