#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

22 मरीजों की मौत पर CM योगी का सख्‍त रुख, आगरा का पारस हॉस्पिटल सीज

514

आगरा, ताजनगरी आगरा का पारस हॉस्पिटल दो दिनों से लगातार सुर्खियों में बना हुआ है। अस्‍पताल प्रशासन पर कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सिजन की सप्‍लाई रोककर 22 मरीजों को मार डालने के आरोप लग रहे हैं। इसको लेकर अस्‍पताल के मालिक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वह अपनी करतूतों के बारे में बता रहा है। मामला तूल पकड़ते ही यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सख्‍त रुख अख्तियार कर लिया है। उन्‍होंने पारस हॉस्पिटल को सीज करने के आदेश दिए हैं।
दूसरी ओर, आगरा के डीएम प्रभु एन सिंह का कहना है कि अस्‍पताल में ऑक्सिजन की कमी से किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। हालांकि पूरे मामले की जांच की जा रही है और महामारी ऐक्‍ट में मुकदमा दर्जकर कार्रवाई की जाएगी। अस्‍पताल के मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा है। इस संबंध में सीएमओ को जरूरी निर्देश दे दिए गए हैं। वहीं, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जय प्रताप सिंह का कहना है कि जांच होने के बाद ही इस मामले में कुछ कहा जा सकता है। उन्‍होंने बताया कि पारस हॉस्पिटल में ऑक्सिजन उपलब्‍ध कराने में समस्‍या की शिकायत मिली है।
‘एक ट्रायल मार दो, पता चल जाएगा कि कौन मरेगा और कौन नहीं’
सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल है, उसमें अस्‍पताल के मालिक डॉक्टर अरिंजय जैन कहते हैं, ‘मैंने संजय चतुर्वेदी को फोन किया। वो बोले- बॉस मरीजों को समझाओ, डिस्चार्ज शुरू करो। मुख्यमंत्री भी ऑक्सीजन नहीं दिला सकता। मेरे हाथ पांव फूल गए और मैंने पर्सनली समझाना शुरू किया। कुछ पेंडुलम बने रहे कि नहीं जाएंगे। फिर मैंने कहा- दिमाग मत लगाओ और उन्हें छांटो जिनकी ऑक्सिजन बंद हो सकती है। एक ट्रायल मार दो, हमें समझ आ जाएगा कि कौन मरेगा और कौन नहीं। इसके बाद सुबह 7 बजे मॉकड्रिल शुरू हुई। ऑक्सिजन शून्य कर दी…22 मरीज छंट गए। हाथ पैर नीले पड़ने लगे, छटपटाने लगे तो तुरंत खोल दिए।’
राहुल और प्रियंका का योगी सरकार पर हमला
इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी और यूपी प्रभारी प्रियंका सिंह वाड्रा भी योगी सरकार पर हमलावर हैं। दोनों नेताओं ने ट्वीट कर यूपी सरकार के कामकाज पर जमकर हमला बोला है। राहुल ने कहा कि बीजेपी शासन में ऑक्सिजन और मानवता दोनों की भारी कमी है। इस खतरनाक अपराध के जिम्‍मेदार सभी लोगों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, प्रियंका ने लिखा कि पीएम कह रहे हैं कि मैंने ऑक्सिजन की कमी नहीं होने दीऍ सीएम कह रहे हैं ऑक्सिजन की कोई कमी नहीं है। अस्पताल ने 22 मरीजों का ऑक्सिजन बंद कर मॉकड्रिल की। इन सबके लिए जिम्‍मेदार कौन?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *