#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

38 गेंद में 125 रन बनाने वाले इस कंगारू बैटर की विराट ने की थी मदद! अपनी पारी में 13 छक्के जड़े थे

621
विराट कोहली को मौजूदा समय का दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज माना जाता है। वह कई युवा खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा रहे हैं। हालांकि, सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर के युवा बल्लेबाज उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। इसका उदाहरण ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट मार्श वनडे कप में देखने को मिला था, जब अक्तूबर में साउथ ऑस्ट्रेलिया टीम के 21 साल के बल्लेबाज जेक फ्रेजर मैकगर्क ने तस्मानिया के खिलाफ 29 गेंद में शतक जड़ दिया था। यह प्रोफेशनल क्रिकेट का सबसे तेज शतक रहा। जेक को ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा है। हालांकि, उस शतक के करीब दो महीने बाद अब जेक ने इस पारी के पीछे विराट कोहली को प्रेरणा बताया है। साथ ही यह भी बताया है कि किस प्रकार विराट से उन्हें अच्छा खेलने की सीख मिली। तस्मानिया के खिलाफ खेली गई पारी लिस्ट-ए में उनकी पहली शतकीय पारी रही। उन्होंने 38 गेंद में 125 रन बनाए थे, जिसमें 13 छक्के और 10 चौके थे। यानी 118 रन तो जेक ने सिर्फ चौके-छक्के से बटोरे। बाकी रन उन्होंने दौड़कर लिए। इसी पारी के बाद जेक पर सभी की निगाहें पड़ी थीं। इसके बाद जेक ने नवंबर में विक्टोरिया के खिलाफ एडिलेड ओवर में अपना पहला फर्स्ट क्लास शतक लगाया था। शेफिल्ड शील्ड में डेब्यू के चार साल बाद उन्होंने अपना पहला प्रथम श्रेणी शतक जड़ा। हाल ही में एक इंटरव्यू में जेक फ्रेजर मैकगर्क ने बताया कि विराट कोहली की वजह से ही यह सब संभव हो पाया है। जेक ने बताया विराट ने जो बातें कहीं, वो उन्होंने अपने जीवन में और अपनी बल्लेबाजी में उतारा, जिससे उन्हें काफी मदद मिली।
विराट की मदद से जेक ने अपनी तकनीक को सुधारा

जेक ने कहा- पिछले कुछ सीजन में मुझे काफी बुरा लग रहा था। मुझे बल्लेबाजी करते हुए अजीब लगता था। मैं गेंद को खेलने से पहले ठीक से देख नहीं पाता था। इस वजह से मैं गेंद को अच्छे से खेल नहीं पा रहा था। आप विराट कोहली जैसे खिलाड़ियों को देखते हैं कि जब वह बल्लेबाजी कर रहे होते हैं तो उनकी आंखें गेंद को बड़ी गौर से देख रही होती हैं और वह आखिरी समय तक गेंद को देखते हैं। वह एक बाज की तरह गेंद को देख रहे होते हैं। तो मैंने उनसे सीख ली और इसे अपनी बल्लेबाजी में उतारने की कोशिश की। मैंने भी विराट की तरह पहले सीम को पढ़ने की कोशिश की और फिर रिएक्ट किया और खुद को उस गेंद को खेलने के लिए बैक किया। जेक फ्रेजर ने विराट के साथ-साथ ट्रेविस हेड पर भी बयान दिया। उन्होंने कहा- वह अपने खेलने के स्टाइल को बैक करते हैं। जो भी शॉट हेड खेलते हैं या जो भी वह करते हैं, उसे वह 100 प्रतिशत समर्पण के साथ करते हैं। उनके बैटिंग स्टाइल को मैंने अपनी बैटिंग में उतारने की कोशिश की और इस सीजन में मुझे वाकई मदद मिली है। ट्रेविस के जैसे मैं भी बल्लेबाजी करना चाहता हूं। वह एडिलेड के किंग हैं। जेक फ्रेजर अब बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स में नजर आएंगे। अगर वह कुछ बड़ी पारियां खेलते हैं तो आईपीएल ऑक्शन में फ्रेंचाइजी को प्रभावित कर सकते हैं। हालांकि, जेक का कहना है कि वह फिलहाल आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं। उनका मकसद ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट खेलना है। मैं टेस्ट क्रिकेट को देखते हुए बड़ा हुआ हूं। फिलहाल मेरा लक्ष्य टेस्ट टीम में जगह बनाना है। अगर ऐसा होता है तो सही है। अगर मैं टेस्ट टीम में जगह नहीं बना पाता हूं तो कोई बात नहीं। पर अभी मेरा सपना वही है।