#BREAKING LIVE :
मुंबई हिट-एंड-रन का आरोपी दोस्त के मोबाइल लोकेशन से पकड़ाया:एक्सीडेंट के बाद गर्लफ्रेंड के घर गया था; वहां से मां-बहनों ने रिजॉर्ट में छिपाया | गोवा के मनोहर पर्रिकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरी पहली फ्लाइट, परंपरागत रूप से हुआ स्वागत | ‘भेड़िया’ फिल्म एक हॉरर कॉमेडी फिल्म | शरद पवार ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर साधा निशाना, कहा- उन्होंने पार कर दी हर हद | जन आरोग्यम फाऊंडेशन द्वारा पत्रकारो के सम्मान का कार्यक्रम प्रशंसनीय : रामदास आठवले | अनुराधा और जुबेर अंजलि अरोड़ा के समन्वय के तहत जहांगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शन करते हैं | सतयुगी संस्कार अपनाने से बनेगा स्वर्णिम संसार : बीके शिवानी दीदी | ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आरती त्रिपाठी हुईं सम्मानित | पत्रकार को सम्मानित करने वाला गुजरात गौरव पुरस्कार दिनेश हॉल में आयोजित किया गया | *रजोरा एंटरटेनमेंट के साथ ईद मनाएं क्योंकि वे अजमेर की गली गाने के साथ मनोरंजन में अपनी शुरुआत करते हैं, जिसमें सारा खान और मृणाल जैन हैं |

‘EU-G7 के रूस पर लगाए प्रतिबंधों से हीरा उद्योग को नुकसान’, जयशंकर बोले- इसका निपटारा हमारी प्राथमिकता

75

भारत सरकार ने यूरोपीय संघ (ईयू) और जी7 देशों द्वारा रूसी बिना पॉलिश हीरों के आयात पर लगाए गए प्रतिबंध पर विचार कर रही है। क्योंकि इसका असर सूरत के हीरा पॉलिशिंग उद्योग पर पड़ रहा है। यह बात कहना है विदेश मंत्री एस जयशंकर का। सूरत में उन्होंने कहा कि हमारे लिए यह प्राथमिक मुद्दा बन गया है। हम इसका समाधान निकालने का प्रयास करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वयं विभिन्न नेताओं के साथ इस मुद्दे को उठाया है और मुझे बेल्जियम सहित विभिन्न देशों में भेजा है, जिससे मैं वहां की सरकार के साथ इन मुद्दों पर बात कर सकूं।

रूस-यूक्रेन युद्धविराम से हल हो सकता है मुद्दा
एस जयशंकर ने सोमवार को सूरत में दिशा फाउंडेशन द्वारा आयोजित युवा व्यापारिक नेताओं के साथ बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि 27 सदस्यीय यूरोपीय संघ ने रूसी हीरे के आयात पर प्रतिबंध लगाया है और दुनिया के सबसे धनी देशों का समूह जी7 भी इसी कदम में आगे बढ़ रहा है। जयशंकर ने कहा कि ईयू ने फिलहाल एक कैरेट हीरे पर प्रतिबंध लगाया है और अगर रूस-यूक्रेन के बीच युद्धविराम होता है तो इस मुद्दे को हल किया जा सकता है लेकिन इसकी संभावना निकट भविष्य में कम ही है। जयशंकर ने कहा कि युद्ध के कारण भारतीय हीरा उद्योग के लिए चुनौतियां आ रही हैं। हम मुद्दे पर सामूहिक और द्विपक्षीय आधार पर चर्चा कर रहे हैं। कुछ दिन पहले ही पीएम मोदी ने इस विषय में बेल्जियम के प्रधानमंत्री अलेक्जेंडर डी क्रू से बात की थी। अब केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल अगले कुछ दिन में दोबारा उनसे बात करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य ईयू और जी7 समूह के देशों को यह समझाना है कि उनका फैसला तीसरे देश को नुकसान पहुंचा रहा है न कि उनके लक्ष्य रूस को। चीन की हरकतें और बयानबाजी किसी से छिपी नहीं है। चीन अक्सर अपने पड़ोसी के साथ विवादों के कारण सुर्खियों में रहता है। इस बीच, अरुणाचल प्रदेश के मौजूद स्थानों के नाम बदलने की एक बार फिर चीन ने ड्रैगन चाल चली है। चीन के दावे को खारिज करते हुए विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि नाम बदलने से कोई असर नहीं पड़ेगा। वे भी जानते हैं कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग था, है और हमेशा रहेगा।